Thursday, June 17, 2010

मौत की तरंगें : एपिसोड - 41

इं-त्यागी ने जी-सुंदरम के सामने टेपरिकार्डर लाकर रखा।
‘‘इसमें बी-सी-ओ- के मैनेजर शोरी की दो कालें टेप हैं। पहली उसने कहीं की थी और दूसरी उसके पास आयी थी।’’ उसने बताया और टेपरिकार्ड का स्विच ऑन कर दिया।
‘‘यह काल कहाँ की गयी थी?’’ सुंदरम ने पूछा।

‘‘यह पता नहीं लग पाया। क्योंकि आपरेटर ने इसे टॉप सीक्रेट कहा है। इसके बारे में वह स्वयं भी नहीं बता सकता।’’ 
‘‘इस तरह की लाइन तो सीक्रेट सर्विस वालों के लिये होती है। तो क्या कोई गुप्तचर एजेंसी भी इससे जुड़ी हुई है?’’ सुंदरम ने अपने आप से कहा।

‘‘हो सकता है। खोका कोई मामूली संगठन तो है नहीं। सरकारी तन्त्र में घुसपैठ करके ही वह इतना शक्तिशाली बन पाया है।’’
‘‘मुझे इसके बारे में पता करना पड़ेगा। दूसरी काल कहाँ की थी?’’
‘‘दूसरी काल शोरी के पास बी-सी-ओ- के डायरेक्टर की आयी थी।’’ इं-त्यागी ने टेपरिकार्डर फिर आन कर दिया और शोरी तथा डायरेक्टर की बातचीत सुनाई देने लगी।

‘‘क्या विचार है? इस बातचीत के आधार पर हम बी-सी-ओ- को अपराधी नहीं मान सकते?’’ इं-त्यागी ने पूछा।
‘‘नहीं। संदिग्ध् अवश्य मान सकते हैं। किन्तु हम उनके विरुद्ध कोई कार्यवाई नहीं कर सकते। बी-सी-ओ- कंपनी एक बहुराष्ट्रीय कंपनी है और बिना किसी ठोस सुबूत के हम उनके विरुद्ध कुछ नहीं कर सकते।’’
‘‘क्या दोनों कालों में विरोधाभास नहीं है? पहली काल शोरी को संदिग्ध् बना रही है जबकि दूसरी काल से शोरी निर्दोष सिद्ध हो रहा है।’’

‘‘हाँ। यह विरोधाभास मैंने भी महसूस किया है और इसके आधार पर कुछ सोचने पर विवश हूं। मैं यह सोच रहा हूं कि शायद उन्हें मालूम हो गया है कि उनकी काल टेप हो रही है। और इस कारण उन्होंने दूसरी काल की।’’
‘‘अगर ऐसी बात है तो हम शोरी पर दबाव डालकर मालूम कर सकते हैं कि उसने पहली काल कहाँ की थी।’’
‘‘हम यह भी नहीं कर सकते। तुम एक बार फिर पहली काल का टेप चलाओ।’’

इं-त्यागी ने काल का टेप रिवाइंड करके दोबारा चला दिया।
‘‘इस काल को सुनो। इसमें केवल शोरी की आवाज सुनाई दे रही है। यानि यह टेप दूसरी ओर की काल ट्रेस नहीं कर पाया। यह बात शोरी और उस गुमनाम काल वाले व्यक्ति को भी मालूम होगी। अत: जब हम शोरी से इस काल के बारे में पूछेंगे तो वह कोई भी बहाना बनाकर हमें टरका सकता है।
हाँ, हम यह कर सकते हैं कि इस समय शोरी के पास चलकर डायरेक्टर के बारे में पूछें कि वह कहाँ है। क्योंकि डायरेक्टर ने अपने बारे में किसी को बताने से मना किया है। अब यदि शोरी को यह मालूम होगा कि काल टेप की जा रही है तो वह सच्ची बात बता देगा। वरना कह देगा कि डायरेक्टर इस समय आस्ट्रेलिया में है।’’

फिर वे लोग एक बार फिर बी-सी-ओ- के आफिस की तरफ चल पड़े। और कुछ देर बाद वे मैनेजर शोरी के सामने थे।
          

1 comment:

Ashutosh Dubey said...

बहुत अच्छी पोस्ट !
हिंदीकुंज